biomolecules in hindi

बायोमॉलीक्यूल्स हिंदी में।Biomolecules in Hindi।Biomolecules की पूरी जानकारी

Share

बायोमॉलीक्यूल्स क्या होते हैं?

अगर आपसे यह सवाल पूछा जाता है, कि बायोमॉलीक्यूल्स किसे कहते हैं?

इसका सीधा सा जवाब अगर देना हो, तो आप बहुत ही बेसिक आंसर दे सकते हैं, कि वो कोई भी आर्गेनिक केमिकल जो लिविंग ऑर्गनिज़्म्स की बॉडी में पाया जाता है, और किसी भी लिविंग ऑर्गनिज़्म्स के सर्वाइवल के लिए ज़रूरी है, बायोमॉलीक्यूल्स कहलाता है।

लेकिन अगर आपसे कोई पूछता है, की ये बायोमॉलीक्यूल्स किसी भी लिविंग ऑर्गनिज़्म्स को ज़िंदा कैसे रखते हैं?

या ये बायोमॉलीक्यूल्स ऐसा क्या करते हैं कि लिविंग सिस्टम सही तरह से काम करता है, और ज़िन्दगी चलती रहती है तो इसक सीधा सीधा कोई जवाब शायद नज़र नहीं आता है, लेकिन अगर इसे कुछ एग्जामपल्स से समझे तो आसानी होगी।

हमारे बॉडी या किसी लिविंग ऑर्गनिज़्म्स में जितने भी बायोकैमिकल इंट्रक्शन्स होते हैं असल में वही हमे या किसी भी लिविंग ऑर्गनिज़्म्स को ज़िंदा रखते हैं।

जैसे कि अगर रेस्पिरेशन न हो तो ग्लूकोज़ का ब्रेक डाउन नहीं होगा और सेल में ए टी पी की कमी हो जाएगी मतलब सेल में एनर्जी की कमी हो जाएगी और उसका ज़िंदा रहना मुश्किल हो जायेगा।

इस ब्लॉग में हम बायोमॉलीक्यूल्स की फंडामेंटल डेफिनिशन और कुछ बेसिक टर्म्स के बारे में समझेंगे और इन सवालों के जवाब पाएगे कि,

जैव अणु/बायोमॉलीक्यूल्स क्या हैं? (What is Biomolecules?)
जैव अणुओं को जीवित कोशिकाओं से कैसे अलग किया जाता है? (How to isolates Biomolecules?)
जैव अणुओं के अलावा, जीवित जीवों में कौन से अकार्बनिक रसायन पाए जाते हैं? (What are inorganic chemicals, besides Biomolecules?)
जैव अणुओं का आकार या आणविक भार क्या है?(What is molecular weight of Biomolecules?)
जैव अणुओं को उनके आणविक भार के अनुसार कितने भागों में विभाजित किया गया है?(What is category wise group of molecular weigh of Biomolecules?)
ऐश या राख किसे कहते हैं? (What is Ash?)
जैव अणुओं के नाम क्या हैं? (Names is Biomolecules?)

बायोमॉलीक्यूल्स के नाम

कुछ सबसे ज़रूरी महत्वपूर्ण जैव अणुओं/बायोमॉलीक्यूल्स के नाम इस प्रकार हैं-Name of Important biomolecules

कार्बोहाइड्रेट(carbohydrates)
प्रोटीन(proteins)
लिपिड या वसा (lipids or fat)
न्यूक्लिक एसिड-डीएनए या आरएनए(nucleic acid such as DNA and RNA)
एनजाइम(enzymes)
अमीनो अम्ल(amino acids)
विटामिन(vitamins)
फैटी एसिड(fatty acids like monoglycerides and glycerol etc.)

बायोमॉलीक्यूल्स की परिभाषा

सभी कार्बन यौगिक जो हम जीवित ऊतकों या किसी भी जीवित कोशिकाओं जैसे कि प्रोकैरियोट्स या यूकेरियोट्स से प्राप्त करते हैं, उन्हें बायोमॉलीक्यूल्स कहा जा सकता है।

हालाँकि अकार्बनिक यौगिक और तत्व भी जीवित प्रणाली (also present in living system) में मौजूद हैं।

लिविंग ऑर्गनिज़्म्स में मौजूद तत्व का क्या परसेंटेज होता है, आइये देख़ते हैं-

तत्त्व · मानव शरीर में %

हाइड्रोजन (H) 0.5

ऑक्सीजन (ओ) 65.0

नाइट्रोजन (एन) 3.3

सल्फर (एस) 0.3

सोडियम (ना) 0.2

कैल्शियम (Ca) 1.5

मैग्नीशियम (एमजी) 0.1

सिलिकॉन (Si) ‍ नहीं के बराबर

कार्बन (सी) 18.5

बायोमॉलीक्यूल्स को कैसे अलग करें?

जैव अणुओं/बायोमॉलीक्यूल्स के आइसोलेशन/पृथक्करण के चरण क्या हैं?

जीवितजीवों में किस प्रकार के कार्बनिक यौगिक पाए जाते हैं?

कोई भी जीवित ऊतक (एक सब्जी या लिवर का टुकड़ा आदि) लें।

इसे ट्राइक्लोरो एसिटिक एसिड (Cl3 CCOOH) के साथ मिलाकर पीस लेंते हैं, इसके लिए हम मोर्टार और पेस्टल (mortar and pestle) का इस्तेमाल करते हैं।

जिससे हमें गाढ़ा घोल (thick slurry) प्राप्त होता है।

छान लें (कसकर निचोड़ें) – पनीर के कपड़े या कॉटन के कपड़े से छान लेंते हैं।

दो अलग अलग पार्ट हमे मिलता है।

1-फिल्ट्रेट (एसिड सॉल्युबल पार्ट/पूल) जिसमें हजारों आर्गेनिक कंपाउंड मौजूद होते हैं।

2-रिटेंटेट (एसिड इनसॉल्युबल पार्ट) में बड़े आणविक भार के आर्गेनिक कंपाउंड भी होते हैं, लेकिन सल्फेट, फॉस्फेट भी मौजूद होते हैं।

एसिड सॉल्युबल पार्ट
बायो-माइक्रोमॉलिक्यूल्स
M.W (आणविक भार) 18-800.Da (डाल्टन्स)
एसिड सॉल्युबल पार्ट/पूल मोटे तौर पर साइटोप्लाज्मिक स्ट्रक्टर्स को रिप्रेजेंट करता है

एसिड इनसॉल्युबल पार्ट
बायो-मैक्रोमॉलिक्यूल्स
M.W (आणविक भार) 10000 Da (डाल्टन) या इससे ऊपर के मॉलिक्यूलर वज़न के कंपाउंड।
एसिड इनसॉल्युबल पार्ट या पूल साइटोप्लाज्म और ऑर्गेनेल में उपस्थित बायो-मैक्रोमॉलिक्यूल्स का रेप्रेसन्ट्स करता है। जैसे कि प्रोटीन, न्यूक्लिक एसिड, पॉलीसेकेराइड, लिपिड आदि।

ऐश या राख क्या है?

What is Ash in Hindi?

इसको समझने के लिए एक सिंपल सा प्रैक्टिकल करते हैं।
सबसे पहले एक लिविंग टिश्यू या ऊतक लेते हैं, जैसे कि (पत्ती या लिवर) और उसका वज़न निकाल लेते हैं , इस वज़न को उस टिश्यू का गीला या वेट वज़न कहते हैं , क्योंकि उसमें पानी मौजूद होता है।

अब पूरी तरह से सुखा लेते हैं जिससे सारा पानी, भाप बनकर निकल जाता है, और अब वज़न करने पर जो आता है उसे सूखा वज़न या ड्राई वज़न कहते हैं।

अब ऊतक या टिश्यू को पूरी तरह से जला लेते हैं, तो उसमे मौजूद सभी कार्बन यौगिक गैसीय रूप (CO2, जल वाष्प) में ऑक्सीकृत हो जाते हैं।
अब जो कुछ भी बचता है उसे राख या ऐश कहा जाता है, (इसमें Ca, Mg आदि होते हैं).

जैव अणु कैसे बनते हैं?                                                                                                                                                                      किसी भी बायोमॉलीक्यूल्स/जैव अणु में कार्बन, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन (carbohydrates and fats) तो मिलता ही है, इसके अलावा कुछ में नाइट्रोजन, सल्फर (proteins and nucleic acids) और फॉस्फोरस भी मौजूद होता है

जैव अणुओं में 4 मुख्य तत्व क्या हैं?
बायोमॉलीक्यूल्स/जैव अणु में प्राथमिक तत्व के रूप में कार्बन, हाइड्रोजन, ऑक्सीजन, फॉस्फोरस और सल्फर मौजूद होते हैं

अंत में-Conclusion

हमनें बायो मॉलीक्यूल्स या जैविक मॉलीक्यूल्स (biomolecules) से सम्बंधित कुछ ज़रूरी पॉइंट को कवर करने का प्रयास किया है, और ज़रूरी सवालों को भी साझा किया है।

लेकिन फिर भी किसी भी प्रकार का कोई सुझाव या अपडेट और यदि कोई मिस्टेक आपको दिखाई देती है तो आप हमें ज़रूर बताएं।

हम आपके सुझाव को या किसी मिस्टेक, जोकि पोस्ट में यदि कहीं पर हुई है, तो उसे अपडेट करने की पूरी कोशिश करेंगे।

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आपका बहुत धन्यवाद।

आप की ऑनलाइन यात्रा मंगलमय हो।।

Leave a Comment

Your email address will not be published.